National Girl Child Day: 2022|जाने क्यों खास है, राष्ट्रीय बालिका दिवस

National Girl Child Day 2022: राष्ट्रीय बालिका दिवस की शुरुआत 2008 में महिला और बाल विकास मंत्रालय के द्वारा शुरू किया गया था। राष्ट्रीय बालिका दिवस( National Girl Child Day) का मुख्य उद्देश्य लड़कियों को हर तरह अधिक से अधिक से सहायता और सुविधाएं प्रदान करना है।

इतिहास के पन्नों को अगर पलट कर देखा जाए तो लड़कियों के साथ प्राचीन काल से ही हर पहलू में भेदभाव और हिंसा का सामना करना पड़ा है। इसलिए अब समय आ गया है कि लड़कियों को उनके उचित अधिकार मिले और समाज के निर्माण में अपना अहम योगदान दें।

आज के हम अपने आर्टिकल में चर्चा करेंगे कि राष्ट्रीय बालिका दिवस क्या है? “National Girl Child Day kya hai”? तथा इसे क्यों मनाया जाता है?

National Girl Child Day क्या है?

National Girl Child Day: लड़कियों को समाज में स्थान देने के लिए सरकार द्वारा जो योजना चलाई जाती है। उनसे रूबरू करवाने के लिए तथा लड़कियों को जागरूक करने के उद्देश्य से राष्ट्रीय बालिका दिवस हर वर्ष 24 जनवरी को मनाया जाता है। इसकी शुरुआत महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा 2008 में की गई थी।

Rastriya balika shishu divas, National  Girl child Day

Also Read:

24 जनवरी 1966 को देश की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी बनी थी। इसलिए हर वर्ष 24 जनवरी को ही राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है। इसे पहली बार 2009 में मनाया गया था लेकिन योजना की शुरुआत 2008 में हुई थी।

राष्ट्रीय बालिका दिवस क्यों मनाया जाता है?

लड़कियों को समाज में लड़के की तरह सामान दृष्टि से नहीं देखा जाता है। उनके साथ हर काम में भेदभाव किया जाता है। आज लड़कियां हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है। फिर चाहे वो खेल का मैदान हो या फिर नौकरी। लड़कियों की कुछ कर गुजरने की भूख दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है।

सरकार द्वारा इनके हौसले को बढ़ाने के लिए हर साल 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस “National Girl Child Day” के रूप में मनाते हैं। फिर भी कुछ लोग बेटी पैदा होने पर तो खुश होते हैं, लेकिन कुछ का मुंह उतर जाता है। देश में अभी भी भ्रूण हत्या जैसे मामले सामने आते रहते हैं। लोगों को जागरूक होने की जरूरत है। बेटा हो या बेटी सब एक समान है।

लोगों को उन्हें बेटा या बेटी की नजर से नहीं, बल्कि एक संतान, एक समाज का निर्माणकर्ता की दृष्टि से देखना चाहिए। हरियाणा और राजस्थान में अभी भी  बेटियों के जन्म पर कईयों के मुंह उतर जाते हैं।

राष्ट्रीय बालिका दिवस का मुख्य उद्देश्य क्या है?

  •  समाज में लड़कियों के साथ होने वाले दुर्व्यवहार और और समानता को उजागर करना।
  • लड़कियों को शिक्षा स्वास्थ्य और पोषण के महत्व पर जागरूकता उत्पन्न करना ।
  • हर देश में लड़कियां खेलकूद या सरकारी नौकरी सभी में अपनी दावेदारी पेश कर रही है।
  • उनकी हौसला को बढ़ाने के लिए सरकार नेशनल गर्ल चाइल्ड डे (National Girl child Day) 24 जनवरी को प्रत्येक वर्ष सेलिब्रेट करती है।

बालिकाओं के क्या क्या अधिकार हैं?

  • बाल विवाह को रोकना
  • राज्य सरकार द्वारा बहुत सारी योजनाओं की शुरूवात करना।
  • लिंग भेदभाव के लिए अल्ट्रासाउंड परीक्षणों का उपयोग करना गलत है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल:

राष्ट्रीय बालिका दिवस कब मनाया जाता है?

राष्ट्रीय बालिका दिवस हर वर्ष 24 जनवरी को मनाया जाता है।

राष्ट्रीय बालिका दिवस की शुरुआत कब हुआ?

राष्ट्रीय बालिका दिवस पहली बार 2009 में मनाई गई।

राष्ट्रीय बालिका दिवस किस मंत्रालय द्वारा शुरूवात किया गया?

राष्ट्रीय बालिका दिवस की शुरूवात महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा शुरु किया गया।

आज के आर्टिकल में हमने बताया की राष्ट्रीय बालिका दिवस ( National Girl Child day) क्या होता है? National Girl Child day से सम्बंधित और कई बातो के बारे में बताया. अगर हमारा ये आर्टिकल आपको पसंद आता है तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर करें .

Share on:

Leave a Comment