धरती कितने साल पुरानी है? |धरती के बारें में पूरी जानकारी हिंदी में !

आज के लेख में हम बात करने वाले हैं धरती कितने साल पुरानी  है? या दुनिया कितने साल पुरानी है? बहुत सारे रीडर्स को ये बात पता होगा लेकिन धरती कितने साल पुरानी है इस बात की जानकारी कैसे पता चली?

dharti kitne saal purani hai

इन सारे सवालों के जवाब आज हम अपने आर्टिकल में देने वाले हैं। आपके मन में कभी न कभी ऐसा सवाल जरूर आया होगा हम और हमारे पूर्वज जो इस धरती पर जी रहे हैं क्या इसकी की कोई उम्र होती होगी।अगर हां तो ये धरती कितने साल से अस्तित्व में है और भविष्य में  और कितने साल अस्तित्व में रहेगी? जब मैंने इंटरनेट पर सर्च किया तो मुझे इसके जवाब मिले।वही जवाब मैं आपके साथ शेयर करना चाहता हूं।

आशा करता हूं कि मेरे द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होगें।

धरती की उम्र क्या है? Dhartee kitne saal purani hai?

धरती की एडजैक्ट आयु किसी ने नहीं बताई है लेकिन 1950 के दशक में एक अनुमान सामने आया की धरती की आयु 4.54 Billion वर्ष पुरानी है। एक सवाल मैं आपके लिए छोड़ता हूं की 1950 के बाद विज्ञान के क्षेत्र में देश दुनिया ने कितनी तरक्की की,

इस बात से आप संभवतः अछूते नहीं होंगे। लेकिन धरती की उम्र  आज भी वैज्ञानिकों के अनुसार वही है जो 1950 के दशक में था। क्या धरती अपने उम्र को रोक कर बैठी है?  

धरती कितने साल पुरानी है

खैर मुझे नहीं पता। मुझे ये जानकारी इंटरनेट के माध्यम से मिली है। फिर अगर इसे संबंधित कोई भी जानकारी मिलती है तो हम इसे जरूर अपडेट करेंगे।

धरती कितने साल पुरानी है? धरती की कहानी

धरती की उम्र कैसे पता करते हैं?

वैज्ञानिकों ने पृथ्वी की उम्र पता लगाने के लिए बहुत सारे तरीके आजमाए हैं।जिनमें सबसे आसान तरीका रेडियोएक्टिविटी का है।

Also Read:

पुरानी चट्टानों में यूरेनियम और शीशा उपस्थित होते हैं जिनके आधार पर वैज्ञानिकों ने पृथ्वी की उम्र की गणना की। कुछ संशोधनों के बाद वैज्ञानिकों ने पृथ्वी की उम्र 4 अरब 60 करोड़ बताया है। जोकि ब्रह्मांड की उम्र से बहुत कम बताया गया है।

धरती पर जीवन की शुरूवात कब हुई?

वैज्ञानिकों ने धरती की उम्र का पता लगाने के क्रम में यह भी पता लगाया कि पृथ्वी पर जीवन की शुरुआत कब हुई। इसके अनुसार लगभग 57 करोड़ वर्ष पूर्व पृथ्वी पर जीवन की शुरुआत हो चुकी थी।

जिसमें से पहले 34 करोड़ पचास लाख वर्षों में समुद्री जीवो का विकास हुआ। उसके बाद 16 करोड़ों वर्षों में रेंगने वाले जीवों का विकास होता रहा। बाद में छह करोड़ पचास लाख वर्षों में स्तनधारी जीवो का विकास हुआ और इसी क्रम में पृथ्वी पर जीव का विकास होता जा रहा है।

पृथ्वी का वजन कितना है?

धरती को अगर सूर्य से दूरी के तुलना में देखा जाए तो यह तीसरे नंबर का Planet है। Earth एक मात्र प्लैनेट है जहां जीवन संभव है। मैने पहले ही बताया है की पृथ्वी लगभग 4.54 अरब साल पहले अस्तित्व में आया।

पृथ्वी का एक मात्र प्राकृतिक उपग्रह है चंद्रमा।पृथ्वी 365.26 दिनों में सूर्य की परिक्रमा करता है, जिसे हमलोग पृथ्वी दिवस के रूप में जानते हैं।

अगर हम पृथ्वी के वजन की बात करें तो इसका वजन एक अनुमान के अनुसार 5.972 × 10^24 kg है।अगर आप इसे Solve करके देखे तो इसका द्रवमान 6,000,000,000, 000,000,000,000,000,000 किलोग्राम (6 x 1024 किलोग्राम, या (1.3 x 1025 पाउंड) है। 

लोग अक्सर पृथ्वी का वजन पूछते हैं इसके बजाय पृथ्वी का द्रव्यमान कितना है पूछना ज्यादा उचित होगा। क्योंकि वजन एक Force है जिसे निर्धारित करने के लिए एक गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र की जरूरत होती है।

Dhartee kitne saal purani hai

पृथ्वी का लिथोस्पेयर कई कठोर टेक्टोनिक प्लेट से मिलकर बना है। पृथ्वी की सतह लगभग 71% पानी से भरा है जिसमे ज्यातर महासागर का पानी है।

शेष 29% हिस्सा भूमि युक्त है जिसमे एक साथ कई झील, नदियां और जल के बहुत सारे स्रोत हैं। इसी 29% में आर्कटिक बर्फ की चादर और अधिकांश ध्रुवीय क्षेत्र बर्फ से ढका है।

धरती पर सबसे पहले कौन आया? उसका नाम क्या था?

वैज्ञानिकों के अनुसार धरती पर सबसे पहले जीवाणु आए थे। अब सवाल उठता है की ये जीवाणु आए कहा से थे? इस सवाल का जवाब भी वैज्ञानिकों के पास है।

उनके अनुसार ये जीवाणु अंतरिक्ष से आने वाले उल्का पिंड तथा धूल मिट्टी के साथ धरती पर आए थे।इस बात से साफ पता चलता है की धरती पर सबसे पहले जीवाणुओं ने ही जीवन की शुरूवात की थी। मतलब इंसानों ने जीवन की शुरूवात नही की थी।

इसी क्रम में एक बात और बता दू की 20साल पहले हमारे धरती पर 2 पुरातन उल्कापिंड गिरा था । वैज्ञानिकों ने उसका Study किया तो उन्होंने ने जो रिपोर्ट दी वो चौकाने वाली थी। उन्होंने कहा की जीवन के लिए जितनी भी जरूरी चीजों की आवश्यकता है वो सारी चीजे मौजूद है।

क्या धरती गोल है?

जी नहीं, कहने में कह देते है की धरती गोल है। पृथ्वी ध्रुव पर थोड़ी चपटी है तथा भूमध्य रेखा पर थोड़ी फैली है।इसलिए पृथ्वी का आकार गोल नहीं है।

धरती का आकार चपटा, वालायकार, अंडाकार बहुत सारे विद्वान अपने अनुसार बताते हैं। पृथ्वी का व्यास भूमध्य रेखा पर ध्रुव से अधिक है।इसलिए भी कह सकते है की धरती पूर्णतः गोल नहीं है।

dharti ki umra kitne saal hai

कुछ अन्य लोग धरती का आकार गोल न बता कर चपटा, वलायकार, अंडाकार बताते है। क्योंकि उनका कहना है कि पृथ्वी अपने ध्रुवों पर थोड़ी चपटी है और भूमध्य रेखा पर थोड़ी फैली है अतः पृथ्वी का आकार गोल नहीं है।

धरती की भूमध्य रेखा पर व्यास 12756 किलोमीटर तथा ध्रुव पर 12713 किलोमीटर है।

FAQ(Frequently asked question)

हमारी धरती कितने अरब पुरानी है?

हमारी धरती 4.5 अरब साल पुरानी है।

हमारी धरती कितनी बड़ी है?

हमारी धरती  का औसत व्यास 12,742 किलोमीटर (7, 918 मील) है।

धरती पर क्या गिरने वाला है?

नासा (NASA) के अनुसार पृथ्वी से बहुत जल्द विशालकाय पत्थर एस्टेरॉयड बन्नू टकराएगा। इससे पृथ्वी वासी को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा।

पृथ्वी का असली नाम क्या है?

हमारी धरती का नाम पृथ्वी महाराज पृथु के नाम पर पड़ा।इसका अंग्रेज़ी भाषा Earth तथा लैटिन भाषा में Terra कहा जाता है।

आशा करता हूँ की मेरे द्वारा लिखा गया आर्टिकल आपको पसंद आया होगा तथा आपकी पृथ्वी से रिलेटेड जो भी प्रॉब्लम होगा वो सोल्वे हो गया होगा . फिर भी अगर कुछ और जानकारी रह गयी हो तो हमें कमेंट कर के जरुर बताये. हम आपके सवालो के जवाब समय रहते जरुर दें.

ये पोस्ट भी आप पढ़ सकते हैं: बाज पक्षी – Hawk Bird🐦In Hindi

Share on:

Leave a Comment