भूगोल क्या है? Geography in Hindi। What is Geography?

Telegram

Geography in Hindi:- भूगोल एक ऐसा विषय है, जिसमें आप किसी भी देश के अंतर्गत नदियों, पर्वतों, मानचित्र का अध्ययन किया जाता है।

भूगोल को अंग्रेजी में जियोग्राफी(Geography) कहा जाता है, जिसका मतलब पृथ्वी का अध्ययन करना होता है। सबसे पहले पृथ्वी के बारे में वर्ण करने का श्रेय इरैटोस्थनीज़ को जाता है। इसलिए इन्हें भूगोल का जनक कहा जाता है।

इस लेख के माध्यम से हम आपको भूगोल क्या है?(What is Geography?) or Geography in Hindi, भूगोल के जनक, भूगोल की परिभाषा, भुगोल के जनक, भुगोल किसे कहते हैं?(Bhugol kise kehte hain?) इत्यादि के बारे में जानकारी देने वाले हैं।

Read Also:- 

भुगोल किसे कहते हैं? What is Geography in Hindi?

भूगोल वैसा विषय या शास्त्र है, जिसके अंतर्गत पृथ्वी में पाए जाने वाले सभी खनिज तत्व तथा पृथ्वी की संरचना के बारे में अध्ययन किया जाता है, उसे भूगोल (Geography definition) कहा जाता है।

geography in hindi

Geography दो शब्द Geo+Grapho से मिलकर बना है। Geo का पृथ्वी होता है, जबकि Grapho का अर्थ लिखना या वर्णन करना होता है।

भुगोल की परिभाषा इन हिन्दी। Definition of Geography

भूगोल की परिभाषा अनेक विद्वानों के द्वारा दी गई। यहां हम उन विद्वानों की चर्चा तथा उनके द्वारा दी गई परिभाषा के बारे में बताएंगे।

टॉलमी महोदय के अनुसार – “भूगोल वह आभामय विज्ञान हैं, जो पृथ्वी की झलक स्वर्ग में देखता हैं।”

वर्नहार्ड महोदय के अनुसार – “भूगोल पृथ्वी की सतह को अध्ययन का केंद्र मानकर उसे समझाने की प्रक्रिया हैं।”

स्ट्रैबो महोदय के अनुसार – “भूगोल एक ऐसा स्वतंत्र विषय हैं, जिसका उद्देश्य लोगों को विश्व आकाशीय पिंडो,महासागरों,जीव-जंतुओं,वनस्पतियों, फुलों, भू-धरातलों के क्षेत्रों में देखी जाने वाली प्रत्येक अन्य वस्तु का ज्ञान प्राप्त करवाना हैं।”

कांट महोदय के अनुसार – “भूगोल भूतल के क्षेत्र में विवेचनात्मक अध्ययन करने वाला विषय हैं।”

होम्स महोदय के अनुसार – “भूगोल में पृथ्वी के उस भाग का अध्ययन किया जाता हैं, जो मानव के रहने का स्थान हैं।”

Geography in Hindi [Video]

भुगोल के कितने प्रकार होते हैं? How many types of Geography?

भुगोल के मुख्य रूप से पांच प्रकार होते हैं जो इस प्रकार है: –

  • भौतिक भुगोल
  • आर्थिक भूगोल
  • मानव भूगोल
  • सामाजिक भूगोल
  • राजनीतिक भूगोल

 

भौतिक भूगोल – भौतिक भूगोल के अंतर्गत पृथ्वी के धरातल,सागरों-महासागरों, वायु और मौसम आदि से संबंधित अध्ययन किया जाता हैं। इसमें इन समस्त भागों में सम्मिलित तत्वों को आधार बनाकर अध्ययन कराया जाता हैं।

आर्थिक भूगोल – आर्थिक भूगोल में वनस्पतियों, जीव-जंतुओं एवं मानवीय आर्थिक क्रियाओं का अध्ययन किया जाता हैं। इसके अंतर्गत धन से संबंधित समस्त पहलुओं का अध्ययन किया जाता हैं। यह भौगोलिक स्थिति के आर्थिक विश्लेषण का कार्य करती हैं।

मानव भूगोल – मानव भूगोल के अंतर्गत मानव विकास के क्रमबद्ध पहलुओं का अध्ययन किया जाता हैं। मानव भूगोल मानव-संस्कृति, वेशभूषा, खान-पान आदि संबंधित विषयों में टिप्पडी करने का कार्य करता हैं।

सामाजिक भूगोल – सामाजिक भूगोल के अंतर्गत सामाजिक वर्गों,धर्मो एवं लिंग (Gender) संबंधित तत्वों का अध्ययन किया जाता हैं। यह सामाजिक समूहों और वर्गों का वातावरण के साथ संबंधों की विवेचना करता हैं।

राजनीतिक भूगोल – राजनीतिक भूगोल, भूगोल की वह शाखा हैं, जिसके अंतर्गत स्थानीय एवं क्षेत्रीय राजनीतिक वर्चस्व की व्याख्या की जाती हैं। इसमें राजनीती का विश्लेषण भौगोलिक सिद्धांतो के आधार पर किया जाता हैं।

भुगोल के जनक या भुगोल के पिता किसे कहा जाता है?

हिकेटियस ने अपनी पुस्तक Ges Periods में पृथ्वी की संरचना का क्रमबद्ध तरीके से अध्ययन करके बताया है। इनके अनुसार पृथ्वी के अध्ययन के साथ-साथ ब्राह्मण का अध्ययन हुई इसी विषय में किया जाता है।

इसलिए हिकेटियस को भूगोल के जनक या भूगोल के पिता के रूप में जाना जाता है।

इस विषय के अंतर्गत छात्रों को प्राकृतिक संसाधन, जीव जंतु, नदियां, पर्वत, मिट्टी, सौरमंडल, पर्यावरण इत्यादि का अध्ययन कराया जाता है। इसलिए भूगोल को प्राचीन विज्ञान भी कहा जाता है।

छात्रों के अध्ययन की सुविधा के लिए भूगोल को 5 भागों में विभाजित किया गया है, जो इस प्रकार है:-

  • भौतिक भुगोल
  • आर्थिक भूगोल
  • मानव भूगोल
  • सामाजिक भूगोल
  • राजनीतिक भूगोल

शिक्षा के क्षेत्र में भुगोल की क्या उपयोगिता है?

आज के समय में भूगोल के अध्ययन की जानकारी छात्रों के साथ-साथ आम इंसानों को भी होनी चाहिए। जरूरी नहीं कि एक आम इंसान को पर्वत, पहाड़, नदियां याद रहे।

लेकिन पर्यावरण को बचाने की जिम्मेदारी केवल छात्रों की नहीं, पृथ्वी पर रह रहे हर एक इंसान की बनती है।

छात्र भुगोल का अध्ययन करके जलवायु परिवर्तन, धरातल की  दिशाओं, नदियों एवं प्राकृतिक संसाधनों के तत्वों के बारे में सही जानकारी प्राप्त करते हैं।

इसके अध्ययन से जलवायु परिवर्तन के समय कारणों तथा प्राकृतिक संसाधनों की मात्रा व खबरों के संबंध में भविष्यवाणी की जा सकती है।

भूगोल के अध्ययन के माध्यम से छात्रों में एकता का भाव भी क्रिएट किया जा सकता है। जैसे पर्यावरण संरक्षण से संबंधित गतिविधियों के संबंध में जागरूक होना।

भुगोल से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (Geography in hindi)

भूगोल कितने शब्दों से मिलकर बना है?

उत्तर :- भूगोल शब्द हिन्दी के दो शब्दो से बना है भू + गोल अर्थात् पृथ्वी गोल है। यूनान के प्रसिद्ध विद्वान इरेटाँस्थेनीज ने इस विषय की परिभाषा देने के लिए Geography शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम किया । अंग्रेजी भाषा का यह शब्द यूनानी भाषा के दो शब्दों Geo (पृथ्वी) और Graphs (वर्णन) से मिलकर बना है।

भूगोल का क्या अभिप्राय है?

उत्तर :- भूगोल पृथ्वी के धरातल, इसके स्वरुप, भौतिक लक्षण, राजनीतिक विभाजन, जलवायु, उत्पादन, जनसंख्या, पर्यावरण औरर उसकी समस्याओं आदि के अध्ययन का विज्ञान है।

भूगोल के कितने भाग होते हैं?

उत्तर :- भूगोल (Geography) मुख्यतः तीन प्रकार के होते हैं : भौतिक भूगोल, मानव भूगोल और प्रादेशिक भूगोल, जिन्हें भौतिक तथा मानवीय परिघटनाओं के रूप में वर्गीकृत किया गया है. वैसे तो भूगोल की कई शाखाएँ होती हैं लेकिन यह तीन भूगोल की प्रमुख शाखाएँ मानी जाती है.

मानव भूगोल का जनक कौन है?

उत्तर :- कार्ल रिटर (1779-185 9), आधुनिक भूगोल के संस्थापकों में से एक और बर्लिन के हम्बोल्ट विश्वविद्यालय में भूगोल में पहली कुर्सी में से एक माना जाता है, उन्होंने अपने कार्यों में कार्बनिक समानता के उपयोग के लिए भी उल्लेख किया।

भूगोल की दो शाखाएं कौन सी है?

उत्तर :- तथ्यों की प्रकृति के अनुसार को दो प्रधान शाखाओं में विभक्त किया जाता है- भौतिक भूगोल (Physical geography), और मानव भूगोल (HUMAN GEOGRAPHY) ।

भूगोल के पिता का क्या नाम है?

उत्तर :- एच॰ एफ॰ टॉजर ने हिकैटियस (500 ईसा पूर्व) को भूगोल का पिता माना था जिसने स्थल भाग को सागरों से घिरा हुआ माना तथा दो महादेशों का ज्ञान दिया।

भारत भूगोल के जनक कौन है?

उत्तर :- जेम्स रेनेल को भारतीय भूगोल का पिता कहा जाता है, और समुद्र विज्ञान के उनके अग्रणी काम के लिए के समुद्र विज्ञान पिता के रूप में भी जाना जाता है।

आधुनिक भूगोल का पिता कौन है?

उत्तर :- हिकैटियस को भूगोल का जनक कहा जाता है जिन्होंने सर्वप्रथम स्थल भाग को सागरों से घिरा हुआ माना तथा दो महादेशों के बारे में अपना ज्ञान दिया. उन्होंने पीरियड्स विश्व का प्रथम क्रमबद्ध का वर्णन किया और इसी लिए एच॰ एफ॰ टॉजर ने हिकेटियस (550 ईसा पूर्व) को ‘भूगोल का पिता’ का उपमा दिया.

मानव भूगोल का क्या महत्व है?

उत्तर :- यह दुनिया भर में भाषाओं, धर्मों और जातियों जैसी सांस्कृतिक विशेषताओं को समझने में मदद करता है । मानव भूगोल समाजों और संस्कृतियों में और दुनिया के विभिन्न हिस्सों में बनाए गए मानव परिदृश्य में विरोधाभासों को स्पष्ट करता है।

मानव भूगोल के मूल सिद्धांत क्या है?

उत्तर :- मानव भूगोल भौतिक पर्यावरण तथा मानव-जनित सामाजिक गया। प्रौद्योगिक विकास की उस अवस्था में हम प्राकृतिक मानव सांस्कृतिक पर्यावरण के अंतर्संबंधों का अध्ययन उनकी परस्पर की कल्पना कर सकते हैं जो प्रकृति को सुनता था, उसकी अन्योन्यक्रिया के द्वारा करता है। आप अपनी कक्षा XI वीं की प्रचंडता से भयभीत होता था और उसकी पूजा करता था।

Conclusion

इस पोस्ट में भूगोल क्या है? What is Geography in Hindi? Bhugol kise kehte hai? भुगोल किसे कहते हैं? भुगोल के जनक, भुगोल के कितने प्रकार होते हैं? Types of Geography इत्यादि के बारे में जानकारी दी है।

Share on:

1 thought on “भूगोल क्या है? Geography in Hindi। What is Geography?”

Leave a Comment