गणतंत्र दिवस भाषण 2022: 73वां Republic day speech 2022 हिंदी में!

गणतंत्र दिवस भाषण 2022:  राष्ट्रीय त्योहार के रूप में गणतंत्र दिवस(Gantantra diwas Speech in Hindi), स्वतंत्रता दिवस तथा गांधी जयंती मनाया जाता है। गणतंत्र दिवस प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है। इस साल गणतंत्र दिवस का 73वां समारोह आयोजित किया जाएगा।

जब भारत 15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ था। तो देश को चलाने के लिए नियम कानून की आवश्यकता थी। इसलिए 26 जनवरी 1950 को जब संविधान लागू किया गया, उसी वर्ष से हम लोग बड़े धूमधाम से 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस(Republic day speech in Hindi) मनाते हैं।

26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस के दिन स्कूल, कॉलेज, सरकारी या गैर सरकारी कार्यालय बड़े उत्साह के साथ गणतंत्र दिवस मनाते हैं। इस दिन बच्चे, बड़े रिपब्लिक डे पर भाषण(Republic day speech in Hindi) देते हैं।

आज हम अपने आर्टिकल में गणतंत्र दिवस क्या है? (Gantantra diwas kya hai)? गणतंत्र दिवस क्यों मनाते हैं? (Gantantra diwas kyu manate hai)? से संबंधित सवाल के जवाब के साथ साथ गणतंत्र दिवस स्पीच इन हिंदी(Gantantra diwas Speech in Hindi) देने वाले हैं। इसलिए इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें। ताकि आप अपने स्कूल में सही सही गणतंत्र दिवस भाषण 2022 दें सकें।

73वे गणतंत्र दिवस भाषण हिन्दी में! (Students के लिए)

गणतंत्र दिवस भाषण 2022: माननीय प्रधानाचार्य, अतिथि गण, शिक्षक गण, मित्रगण और मेरे भाई बहनों आप सभी को सुप्रभात।

आज हम सभी यहां बेहद खास अवसर पर 73वा गणतंत्र दिवस मनाने इकट्ठा हुए हैं। भारत के लिए गणतंत्र दिवस केवल एक पर्व नहीं, बल्कि गौरव और सम्मान का दिन है। यह दिवस हर भारतीय का अभिमान है। अनगिनत लोगों की कुर्बानी के बाद भारत मां को 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली थी। लेकिन उसे स्वतंत्रता का आकार 26 जनवरी 1950 को मिला था। क्योंकि इसी दिन हम संविधान लागू हुआ था।

Gantantra diwas speech in hindi

भारत का संविधान एक लिखित संविधान है। हमारे संविधान को तैयार होने में 2 साल 11 महीने और 18 दिन का समय लगा था। 395 अनुच्छेद और 8 अनुसूचियों के साथ भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है। 26 जनवरी 1950 को डॉ राजेंद्र प्रसाद ने गवर्नमेंट हाउस के दरबार हॉल में भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी।

भारत के पहले गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकर्णो थे। ‘गणतंत्र’ का अर्थ है, देश में रहने वाले लोगों की सर्वोच्च शक्ति और सही दिशा में देश के नेतृत्व के लिए राजनीतिक नेता के रूप में अपने प्रतिनिधि को चुनने के लिए केवल जनता के पास अधिकार है। इसलिए भारत एक गणतंत्र देश है।

जहां आम जनता अपना नेता प्रधानमंत्री के रूप में चुनती है। भारत में पूर्ण स्वराज के लिए हमारे महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने बहुत संघर्ष किया। उन्होंने अपने प्राणों की आहुति दी। जिससे कि हमारी आने वाली पीढ़ी को कोई संघर्ष ना करना पड़े। और हमारा देश को आगे लेकर जा सके।

हमारे देश के महान नेता और स्वतंत्रता सेनानी महात्मा गांधी, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, लाला लाजपत राय, सरदार वल्लभभाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री आदि हैं। भारत को एक आजाद देश बनाने के लिए इन लोगों ने अंग्रेजो के खिलाफ लगातार लड़ाई लड़ी। अपने देश के लिए हम इनके समर्पण को कभी नहीं भूल सकते हैं।

हमें ऐसे महान अवसरों पर इन्हें याद करते हुए सलामी देनी चाहिए। केवल इन लोगों की वजह से यह मुमकिन हुआ कि हम अपने दिमाग से सोच सकते हैं। और बिना किसी दबाव के अपने राष्ट्र में मुक्त होकर रह सकते हैं। डॉक्टर अब्दुल कलाम ने कहा है, कि अगर एक देश भ्रष्टाचार मुक्त होता है। तो सुंदर मस्तिष्क का एक राष्ट्र बनता है।

उनका मानना था कि तीन प्रधान सदस्य हैं जो अंतर पैदा कर सकते हैं। वे हैं माता-पिता और एक गुरु! भारत के एक नागरिक के रुप में हमें इसके बारे में गंभीरता से सोचना चाहिए। और अपने देश को आगे बढ़ाने के लिए सभी मुमकिन प्रयास करना चाहिए। हमें जिम्मेदारी लेना चाहिए। तथा सामाजिक मुद्दों जैसे गरीब, बेरोजगारी, शिक्षा, ग्लोबल वार्मिंग, असमानता आदि से अवगवत रहना चाहिए और अपने स्तर पर योगदान देना चाहिए।

गणतंत्र दिवस के मौके पर राज्य पथ पर तिरंगा फहराया जाता है। फिर राष्ट्रगान गाया जाता है। और 21 तोपों की सलामी होती है। 1957 में भारत सरकार ने बच्चों के लिए राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार शुरू किया था। बहादुरी पुरस्कार 16 साल से कम उम्र के बच्चों को अलग-अलग क्षेत्र में बहादुरी के लिए दिया जाता है। गणतंत्र दिवस के मौके पर अशोक चक्र और कृति चक्र जैसे महत्वपूर्ण सम्मान दिया जाते हैं। इसके बाद हमारी सेना अपना शक्ति प्रदर्शन और परेड मार्च करती है।

और अब अंत में, मैं अपने शब्दों को यहीं विराम देता/ देती हूं। इस मौके पर मुझे अपने विचार प्रस्तुत करने का अवसर प्रदान करने के लिए आप सभी का दिल से धन्यवाद! जय हिंद! 

आपको इसे भी पढना चाहिए:-

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

गणतंत्र दिवस को इंग्लिश में क्या कहते हैं?

गणतंत्र दिवस को इंग्लिश में रिपब्लिक डे (Republic day) कहते हैं।

गणतंत्र दिवस कब मनाया जाता है?

गणतंत्र दिवस हर वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है। क्योंकि इसी दिन 26 जनवरी 1950 को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था।

इस साल कौन सा गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा?

इस साल 73 वां गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा।

संविधान बनने में कितना समय लगा था?

संविधान बनने में 2 वर्ष 11 महीने और 18 दिन का समय लगा था।

Conclusion

आज के आर्टिकल में हमने बताया की गणतंत्र दिवस क्या है? Gantantra diwas kya hai? तथा गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है?Gantantra diwas kyo manaya jata hai? साथ ही गणतंत्र दिवस भाषण 2022(Gantantra diwas Speech in Hindi) रिपब्लिक डे स्पीच इन हिंदी( Republic day speech in Hindi) के बारे में बताया। अगर हमारा यह आर्टिकल आपको पसंद आता है, तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। ताकि वह भी गणतंत्र दिवस पर अपना अट्रैक्टिव भाषण दे सके।

Share on:

Leave a Comment